हैप्पी बर्थडे नवाजुद्दीन सिद्दीकी | Happy Birthday Nawazuddin Siddiqui, his best performances and controversial statements

हैप्पी बर्थडे नवाजुद्दीन सिद्दीकी | Happy Birthday Nawazuddin Siddiqui, his best performances and controversial statements


चर्चित किरदार

गैंग्स ऑफ वासेपुर, बदलापुर, लंचबॉक्स, बजरंगी भाईजान, रईस, रमन राघव 2.0, मंटो, ठाकरे जैसी फिल्में.. और नेटफ्लिक्स के शो सेक्रेड गेम्स में गणेश गाइतोंडे का किरदार नवाजुद्दीन ने चर्चित कामों में रहा है।

छोटे रोल से की शुरुआत

छोटे रोल से की शुरुआत

नवाजुद्दीन सिद्दिकी ने आमिर खान की फिल्म ‘सरफरोश’ से साल 1999 में बॉलीवुड में कदम रखा था। इस फिल्म में नवाजुद्दीन ने आतंकवादी की भूमिका निभाई थी। इसके बाद वह फिल्म शूल में बतौर वेटर और मुन्नाभाई एमबीबीएस में जेबकतरा के रोल में भी नजर आए थे।

12 सालों का संघर्ष

12 सालों का संघर्ष

करीब 12 साल तक नवाजुद्दीन सिद्दिकी ने बॉलीवुड में इसी तरह से छोटे मोटे रोल किए। फिर साल 2012 में आई अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’, जिसमें नवाजुद्दीन सिद्दिकी ने फैजल खान का किरदार निभाया। और ऐसा निभाया कि सभी उनके मुरीद हो गए।

मैं अन्कंवेशनल नहीं हूं

मैं अन्कंवेशनल नहीं हूं

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बयान दिया था- “मुझे unconventional हीरो का टैग दे दिया गया है। जबकि मैं अन्कंवेशनल कैसे हुआ जब भारत में 90 प्रतिशत लोग मेरी तरह ही लगते हैं। मैं ही कंवेन्शनल हूं.. अन्कवेन्शनल तो बाकी हुए ना फिर।”

रंगभेद पर सवाल

रंगभेद पर सवाल

फिल्म बाबूमोशाय बंदूकबाज के कास्टिंग डायरेक्टर संजय चौहान ने एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि ये अजीब दिखता अगर नवाजुद्दीन को गोरे और हैंडसम एक्टर्स के साथ कास्ट किया जाता।

इसके जवाब में नवाजुद्दीन ने कहा था- “शुक्रिया मुझे ये बताने के लिए कि मैं गोरे और हैंडसम लोगों के साथ कास्ट नहीं किया जा सकता. क्योंकि मेरा कलर डार्क है और मैं अच्छा नहीं दिखता. लेकिन मैंने कभी इस चीज पर फोकस नहीं किया..”

चौकीदारी से लेकर सब्जी बेचने का किया काम

चौकीदारी से लेकर सब्जी बेचने का किया काम

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पास होकर नवाज मुंबई आ गए।लेकिन दैनिक खर्च चलाने के लिए उनके पास कोई नौकरी नहीं थी। कड़ी मशक्कत के बाद उन्हें एक चौकीदार की नौकरी मिली।

नवाज ने एक इंटरव्यू में कहा- काम मुश्किल था। हर वक्त चौकन्ना रहना पड़ता। एक दिन, थक गया था.. जमीन पर बैठकर आराम करने लगा। सिक्योरिटी कंपनी के सुपरवाइजर ने देख लिया और तुरंत नौकरी से हटा दिया। इसके अलावा नवाज धनिया बेचने तक का काम भी किया है।

टीवी में काम करने आया था

टीवी में काम करने आया था

नवाज ने कहा ‘मैं मुंबई में बॉलीवुड अभिनेता बनने नहीं आया था बल्कि टीवी में काम करना चाहता था लेकिन किसी ने भी मुझे टीवी में काम करने का मौका ही नहीं दिया। इसीलिए मैंने पांच-छह साल तक सी-ग्रेड फिल्मों में काम किया था..’

विवादित किताब

विवादित किताब

नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बायोग्राफी ‘एन ऑडिनरी लाइफ’ लिखी गई थी। लेकिन यह इतनी ज्यादा विवादित हो गई कि इसे मार्केट से उठाना पड़ा था।इस किताब में नवाज ने एक एक्ट्रेस के साथ अपने अफेयर से लेकर वन नाइट स्टैंड तक के बारे में कहा था।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *