जब निर्देशक अनुराग बासु पर भड़क उठे थे ऋषि कपूर | When Rishi Kapoor lashes out on director Anurag Basu, called him irresponsible

जब निर्देशक अनुराग बासु पर भड़क उठे थे ऋषि कपूर | When Rishi Kapoor lashes out on director Anurag Basu, called him irresponsible


ऋषि कपूर का गुस्सा

जग्गा जासूस के फ्लॉप होने के बाद एक इंटरव्यू ऋषि कपूर ने कहा- एक दिन पहले तक अनुराग फिल्म की एडिटिंग ही कर रहे थे.. आप सोच सकते हैं? प्रीतम (कंपोजर) ने लगभग एक हफ्ते ही पूरी म्यूजिक खत्म की। मतलब आप क्या कह सकते हैं इस पर। आज के निर्देशक किसी से सलाह नहीं लेते।

लगता है न्यूक्लियर बॉम्ब बना रह हों

लगता है न्यूक्लियर बॉम्ब बना रह हों

ऋषि कपूर ने कहा, आज के निर्देशक फिल्म रिलीज से पहले किसी को फिल्म भी नहीं दिखाते हैं। ऐसा लगता है जैसे फिल्म नहीं.. न्यूक्लियर बॉम्ब बना रह हों। मुझसे पूछा जाए तो मुझे फिल्म 20 मिनट लंबी लगी। लेकिन इन्हें कौन अपनी सलाह दे..

लापरवाह निर्देशक हैं

लापरवाह निर्देशक हैं

अनुराग बसु के साथ एकता कपूर और राकेश रोशन की भी इसीलिए कहा सुनी हुई ती। वह बहुत ही लापरवाह निर्देशक हैं। कभी समय पर फिल्म रिलीज नहीं करते। जग्गा जासूस तीन सालों में दो बार रिलीज होते होते पोस्टपोंड हो गई।

आप दुनिया के सबसे बड़े निर्देशक होंगे.. लेकिन कोई आपके साथ काम नहीं करना चाहता क्योंकि आप गैर- जिम्मेदार हैं। हमने बतौर प्रोड्यूसर आप पर विश्वास किया। लेकिन आपने क्या किया!

आप सोचते हैं कि आप ताज महल बना रहे हैं

आप सोचते हैं कि आप ताज महल बना रहे हैं

ऋषि कपूर ने आगे बताया- फिल्म सिंगापुर में भी इसीलिए रिलीज नहीं हो पाई.. क्योंकि आपको पांच दिन एडवांस में देना होता है। खाड़ी देशों में भी फिल्म गुरुवार को रिलीज होती है.. लेकिन वहां भी रिलीज नहीं हो पाई। यह बहुत बड़ी लापरवाही थी.. आप सोचते हैं कि आप ताज महल बना रहे हैं.. लेकिन उसे समय पर बनाना भी जरूरी होता है।

सही समय पर फिल्म तैयार ही नहीं थी

सही समय पर फिल्म तैयार ही नहीं थी

आपने कहा कि यह बच्चों की फिल्म है। तो इसे ऐसे टाइम पर रिलीज करते.. जब ज्यादा से ज्यादा बच्चे देख पाते। फिल्म को गर्मी की छुट्टियों में रिलीज करना चाहिए था। लेकिन उस वक्त तक भी फिल्म तैयार नहीं थी।

गोविंदा को क्यों हटाया!

गोविंदा को क्यों हटाया!

ऋषि कपूर ने कहा, यदि अनुराग को गोविंदा का सीन रखना ही नहीं था.. तो उन्हें गोविंदा से बात ही नहीं चाहिए थी। सीन शूट कराकर उसे हटा देने का क्या मतलब..

मैं उनको थैंक्स कहना चाहूंगा कि उन्होंने रणबीर को बर्फी जैसी फिल्म दी लेकिन अभी उन्होंने इस फिल्म के साथ जो रवैया अपनाया था, इन सब में रणबीर का नाम तो खराब हुआ ही मेरा भी नाम ख़राब हुआ और कपूर्स का भी।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *