16 December film Milind Soman famous for Dulhan ki Vidaai Ka Waqt Badalna Hai

16 December film Milind Soman famous for Dulhan ki Vidaai Ka Waqt Badalna Hai


एक आतंकी हमले की कहानी

16 दिसंबर कहानी थी एक आतंकी ग्रुप की जो पाकिस्तान के उन आर्मी ऑफिसर्स द्वारा चलाया जाता था जो भारत के सामने 1971 में घुटने टेकना नहीं चाहते थे लेकिन उन्हें टेकना पड़ा। इसके बाद इस आतंकी ग्रुप ने प्लान करके नई दिल्ली में एक बम ब्लास्ट प्लान किया।

दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है

दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है

इस बम ब्लास्ट को रोकने का एक ही तरीका था – एक कोड जिसे आतंकवादी ग्रुप का लीडर गुलशन ग्रोवर ही बोल सकता था। कोड था – दुलहन की विदाई का वक्त बदलना है। किसी तरह अलग अलग लाइनों में ये सारे शब्द बुलवाने के बाद, भारत के ऑफिसर्स की टीम ये कोड बुलवा पाती है।

तकनीकी फिल्म

तकनीकी फिल्म

16 दिसंबर, ऐसी पहली फिल्म थी जिसने कंप्यूटर, ग्राफिक्स और ढेर सारी तकनीकों का इस्तेमाल किया था। इस कारण, फिल्म में लोगों को काफी दिलचस्पी थी।

भारत की मिशन इंपॉसिबल

भारत की मिशन इंपॉसिबल

16 दिसंबर को कई क्रिटिक्स ने भारत की मिशन इंपॉसिबल कह कर बुलाया था। वहीं फिल्म की समीक्षा के दौरान कई क्रिटिक्स ने इसे 5 में से 5 स्टार तक दे डाले थे। इनमें रेडिफ और फिल्मफेयर जैसी साइट्स शामिल थीं।

सबसे ज़्यादा मुनाफे वाली फिल्में

सबसे ज़्यादा मुनाफे वाली फिल्में

16 दिसंबर जहां साल 2001 की सबसे ज़्यादा कमाने वाली फिल्मों में शामिल थी वहीं दूसरी तरफ, फिल्म ने काफी मुनाफा कमाया था और उस साल की सबसे सफल फिल्मों में शामिल थी।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *