आलिया से पहले तीन हीरोइनों को ऑफर हुई थी गंगूबाई काठियावाड़ी | Alia Bhatt was not the first choice for Gangubai Kathiawadi, actresses who played prostitutes

आलिया से पहले तीन हीरोइनों को ऑफर हुई थी गंगूबाई काठियावाड़ी | Alia Bhatt was not the first choice for Gangubai Kathiawadi, actresses who played prostitutes


Features

oi-Trisha Gaur

|

आलिया भट्ट की गंगूबाई काठियावाड़ी का टीज़र हाल ही में रिलीज़ हुआ है और बॉलीवुड इस फिल्म में आलिया की भर भर कर तारीफ कर रहा है। शायद ये भी अब तक सभी जानते हैं कि आलिया भट्ट इस फिल्म में गंगूबाई के किरदार के लिए पहली पसंद नहीं थीं। आलिया से पहले ये फिल्म दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा और रानी मुखर्जी को ऑफर हो चुकी है।

सबसे पहले, संजय लीला भंसाली रानी मुखर्जी के साथ ये फिल्म बनाना चाहते थे। लेकिन दोनों के बीच वैचारिक मतभेद हुए और रानी ये फिल्म करने के लिए नहीं मानीं।

इसके बाद ये फिल्म पहुंची दीपिका पादुकोण के पास। दीपिका उस समय, विशाल भारद्वाज की फिल्म सपना दीदी फाईनल कर चुकी थीं। सपना दीदी में दीपिका पादुकोण एक गैंग्सटर का किरदार निभाने वाली थीं और उन्होंने भंसाली को गंगूबाई के लिए ना कह दिया।

आखिरकार, राम लीला में आईटम करने के बाद प्रियंका चोपड़ा, संजय लीला भंसाली के ज़ेहन में बस गईं। प्रियंका, गंगूबाई के लिए फाईनल थीं बस उनकी डेट्स मिलने का इंतज़ार था। वहीं दूसरी तरफ, भंसाली ने सलमान खान और आलिया भट्ट के साथ ईद 2020 में इंशाल्लाह की रिलीज़ अनाउंस कर दी।

लेकिन हमेशा की तरह, सलमान खान और भंसाली के बीच फिल्म को लेकर मतभेद बढ़ते गए और सलमान खान ने ये फिल्म छोड़ दी। लेकिन सलमान खान के साथ इंशाल्लाह करने के लिए आलिया ने अपनी सारी डेट्स भंसाली को दे दी थीं और आमिर खान की लाल सिंह चड्ढा भी रिजेक्ट कर चुकी थीं।

ऐसे में जब इंशाल्लाह बंद हुई तो आलिया का बहुत नुकसान हुआ और उन्होंने ये बात भंसाली को भी जताई। साथ ही आलिया ने भंसाली को ये भी जताया कि वो उनके अगले प्रोजेक्ट में कितनी बुरी तरह काम करना चाहती हैं।

दूसरी तरफ, भंसाली भी आलिया की डेट्स को कहीं जाने नहीं देना चाहते थे क्योंकि वो आलिया के टैलेंट को तब से जानते हैं जब से आलिया ने रणबीर के साथ केवल 11 साल की उम्र में भंसाली के लिए बालिका वधू नाम की एक फिल्म का टेस्ट शूट किया था। उस समय रणबीर, 20 साल के थे।

आखिरकार, आलिया के हिस्से गंगूबाई काठियावाड़ी आ ही गई। फिल्म में पहली बार भंसाली आलिया भट्ट को एक डार्क किरदार में पेश करते नज़र आएंगे। लेकिन बॉलीवुड में पहले भी कई हीरोइनों ने इस तरह के किरदारों में अपनी छाप छोड़ी है जिनसे आलिया की तुलना ज़रूर होगी।

करीना कपूर - चमेली

करीना कपूर – चमेली

इस रोल को करीना कपूर के करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस मेंं से एक माना जाता है। फिल्म में करीना एक कोठे वाली लड़की के किरदार में दिखाई देती हैं जो एक रात में अपने क्लाईंट की ज़िंदगी का नज़रिया बदल देती है।

तबू - चांदनी बार

तबू – चांदनी बार

मधुर भंडारकर की इस फिल्म के लिए तबू को नेशनल अवार्ड मिला था। इस फिल्म के ज़रिए तबू ने बार में डांस करने वाली लड़कियों की ज़िंदगी का सच उजागर करने की कोशिश की थी।

वास्तव

वास्तव

नम्रता शिरोडकर ने संजय दत्त की वास्तव में कोठे पर काम करने वाली एक लड़की की भूमिका निभाई थी। ‘धंधेवाली’ के इस किरदार के लिए उन्हें काफी प्रशंसा मिली थी।

देव डी

देव डी

अनुराग कश्यप की देव डी में कल्कि कोचलिन ने आज के ज़माने की चंद्रमुखी की भूमिका निभाई थी। फिल्म में कल्कि एक आम लड़की की भूमिका में थी जो अपना एक MMS वायरल होने के बाद इस धंधे में उतर आती है।

कोंकणा सेन शर्मा - ट्रैफिक सिग्नल

कोंकणा सेन शर्मा – ट्रैफिक सिग्नल

फिल्म में कोंकणा नूरी नाम की एक लड़की के किरदार में थीं जो सिगनल पर खुद को बेचकर अपना गुज़ारा करती है। फिल्म मधुर भंडारकर ने डायरेक्ट की थी।

वहीदा रहमान - प्यासा

वहीदा रहमान – प्यासा

गुरूदत्त की प्यासा भारतीय सिनेमा की सबसे बेहतरीन फिल्मोंं में टॉप पर गिनी जाती है। फिल्म में वहीदा रहमान के रोल गुलाबो को फिल्म की हीरोइन माला सिन्हा के रोल से ज़्यादा प्रशंसा मिली थी।

विद्या बालन - बेगम जान

विद्या बालन – बेगम जान

सृजित मुखर्जी की बेगम जान में विद्या बालन एक ऐसे कोठे वाली की भूमिका में थी जिसका कोठा, विभाजन के बाद गिराने के आदेश दिया गया है। अपनी लड़कियों के लिए बेगम जान कैसे लड़ती है यही फिल्म की कहानी थी।

चिंगारी - सुष्मिता सेन

चिंगारी – सुष्मिता सेन

कल्पना लाज़िमी की फिल्म में सुष्मिता सेन छोटे शहर में कोठे में रहने वाली एक लड़की की भूमिका में थी जो कोठे पर काम करके अपना गुज़ारा करती है और कोशिश करती है कि उसकी बेटी उसके जैसी ना बने, पर नाकाम रह जाती है।

मार्केट - मनीषा कोईराला

मार्केट – मनीषा कोईराला

फिल्म में मनीषा एक कोठे वाली लड़की के किरदार में थीं जो उन लोगों से बदला लेने की कोशिश करती है जिन्होंने उसे बेचा था। फिल्म की कहानी अच्छी थी लेकिन प्रमोशन नहीं मिलने के कारण बॉक्स ऑफिस पर नहीं चली।

अमर प्रेम

अमर प्रेम

फिल्म में शर्मिला टैगोर एक कोठेवाली की भूमिका में थींं जिससे राजेश खन्ना को प्यार हो जाता है।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *