अमिताभ बच्चन – जया बच्चन अलग रहते हैं – अमर सिंह का विस्फोटक इंटरव्यू | amitabh bachchan jaya bachchan live separately Amar Singh’s explosive revelations

अमिताभ बच्चन - जया बच्चन अलग रहते हैं - अमर सिंह का विस्फोटक इंटरव्यू | amitabh bachchan jaya bachchan live separately Amar Singh’s explosive revelations


अलग बंगलों में रहते हैं

मैंने कभी नहीं कहा कि अब अमिताभ बच्चन – जया बच्चन अलग अलग रहते हैं। लोगों ने मुझ पर आरोप लगाया कि मैंने झगड़ा कराया और उन दोनों (अमिताभ-जया) को अलग कराया। हमनें कहा जब मैं उनसे मिला तो अमिताभ बच्चन प्रतीक्षा (बच्चन फैमिली का मुंबई का एक बंगला) में रहते थे और जया, जलसा (बच्चन फैमिली का मुंबई का दूसरा बंगला) में रहतीं थीं।

माता पिता की नहीं थी इज़्जत

माता पिता की नहीं थी इज़्जत

जया बच्चन का व्यवहार तेजी जी से और हरिवंश राय जी (अमिताभ के माता-पिता) से बहुत बुरा था। पहले तो अमिताभ देखते रहे.. फिर जया के व्यवहार से व्यथित होकर उन दोनों ने अलग रहने का फैसला कर लिया था।

श्रवण कुमार हैं अमिताभ बच्चन

श्रवण कुमार हैं अमिताभ बच्चन

मैंने श्रवण कुमार के बारे में पढ़ा है.. श्रवण कुमार को मैंने अमिताभ बच्चन के रूप में देखा है..। जब जया बच्चन ने हरिवंश राय जी और तेजीजी का अपमान किया उस अपमान से व्यथित होकर अमिताभ पहले बांदा गए। फिर यहां (दिल्ली) के गुलमोहर मार्ग के सोपान नाम के घर में रहने लगे।

अलग अलग है परिवार

अलग अलग है परिवार

वो तीनों लोग अलग-अलग घर में रहते हैं… अभिषेक-ऐश्वर्या अलग घर में रहते हैं.. जया अलग घर में रहती हैं.. अमिताभ अलग घर में रहते हैं।

विवाह में मतभेद है या नहीं?

विवाह में मतभेद है या नहीं?

मैं अपनी सफाई में ये कह रहा हूं कि मैंने इन्हें अलग नहीं कराया। ये अपने कारणों से अलग हैं। दोनों के विवाह में मतभेद है या नहीं, इस पर टिप्पणी नहीं करूंगा लेकिन दोनों बीस साल से अलग रहते हैं।

बहुत ही कठिन फैसला

बहुत ही कठिन फैसला

जब माता-पिता बीमार पड़े तो अमिताभ उन्हें लेकर प्रतीक्षा (मुंबई वाला बंगला) गए। वहां पर भी अपनी पत्नी के व्यवहार और आचरण को देखते हुए उन्होंने अपनी पत्नी को एक अलग घर दिया। और पत्नी के बिना अपने माता-पिता के साथ अमिताभ दूसरे घर में रहना शुरू किए।

सब कुछ वैसा ही

सब कुछ वैसा ही

आज भी वो (अमिताभ) प्रतीक्षा में रहते हैं… माता-पिता की मृत्यु के बावजूद…। आज अपने पिता के कक्ष में अपने पिता का चश्मा, उनकी किताबें यथावत रखी हैं… वहां वो रोज दर्शन करते हैं। मानों कि हरिवंशराय जी अभी अभी उठकर गए हों…।

पहले ही दी थी चेतावनी

पहले ही दी थी चेतावनी

जया बच्चन को जब मैं पार्टी (राजनीति) में ले रहा था तभी अमिताभ बच्चन ने मुझे सचेत किया था कि ये फैसला सोच समझकर लेना। पर मुझे ही समझ नहीं आया।

 पनामा केस

पनामा केस

बच्चनजी पहले पनामा केस के सुप्रीम कोर्ट के नोटिस से बच के दिखाएं… कालेधन का मामला है… अमिताभ ये बताएं कि पनामा में खर्च किया पैसा किसका था.. और कैसे खर्च हुआ!

मुझे उनसे दूर रखें

मुझे उनसे दूर रखें

मुझे बच्चन परिवार से कोई दिक्कत नहीं है। बस मुझे उनसे दूर रखें। हालांकि ऐश्वर्या बहुत ही प्यारी बच्ची है उसने हमेशा मुझे सम्मान दिया है। अभिषेक ने भी मुझे पूरी इज़्जत दी है।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *